50 Happy Guru Nanak Jayanti 2016 Quotes Wishes Status in Hindi

Happy Guru Nanak Jayanti 2016 - Happy Guru Nanak Birthday 2016 Quotes in Hindi with Images We have collected the Best collection for you. So that you don't need to surf all the internet for the same.

Bookmark this blog for Latest Updated About Every Festivals stuff like, Happy Guru Nanak Jayanti Quotes in Hindi, Happy Guru Nanak Jayanti SMS in Hindi, Happy Guru Nanak Jayanti Messages in Hindi, Happy Guru Nanak Jayanti Janamdin.

50 Happy Guru Nanak Jayanti 2016 Quotes Wishes Status in Hindi
50 Happy Guru Nanak Jayanti 2016 Quotes Wishes Status in Hindi

I hope you Liked our collection of Happy Guru Nanak Dev Ji Quotes in Hindi, Happy Guru Nanak Dev Ji Teachings, Guru Nanak Quotes from Guru Granth Sahib You Will Also Get Awesome Images, Pictures, Photos, Wallpapers. Which you can use as your WhatsApp Profile DP or Facebook Cover...

So, Enjoy the collection and don't forget to share it with your friends.
Advertisement

Guru Nanak Gurpurab, also known as Guru Nanak's Prakash Utsav and Guru Nanak Jayanti, celebrates the birth of the first Sikh Guru, Guru Nanak. This is one of the most sacred festivals in Sikhism.

1. “प्रिउ प्रिउ करती सभु जगु फिरी मेरी पिआस न जाइ॥
नानक सतिगुरि मिलिऐ मेरी पिआस गई पिरु पाइआ घरि आइ॥२॥
गुरपुरब की शुभ कामनायें!”

2. “सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं. आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो!”


3. “नानक नीच कहे विचार,
वारेया ना जावाँ एक वार;
जो तुध भावे साईं भली कार,
तू सदा सलामत निरंकार।
गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व की आपको बधाई!”

4. “ना मैं एक बच्चा हूँ , ना एक नवयुवक, ना ही मैं पौराणिक हूँ, ना ही किसी जाति का हूँ.”

5. “नानक नाम चढ़दी कला तेरे भाने सरबत दा भला;
धन धन साहिब श्री गुरु नानक देव जी दे आगमन पुरब दी लख लख वधाई!”
Advertisement
6. “गुरु पुरब दी लख लख वधाईयाँ जी.”

7. “तुमने सिखाया उंगली पकड़कर चलना;
तुमने बताया कैसे गिरने पर है संभलना;
तुम्हारी वजह से आज हम पहुंचे इस मुकाम पे;
गुरु पूरब बीते प्रभु नाम में।
हैप्पी गुरु नानक जयंती!”

8. “भगवान एक है, लेकिन उसके कई रूप हैं. वो सभी का निर्माणकर्ता है और वो खुद मनुष्य का रूप लेता है.”

9. “जन को नदरि कर्म तिन कार।।
नानक नदरी नदिर निहाल।।
गुरु नानक देव जी के गुरुपुरब की आप को बधाई!”

10. “दुनिया में किसी भी व्यक्ति को भ्रम में नहीं रहना चाहिए. बिना गुरु के कोई भी दुसरे किनारे तक नहीं जा सकता है.”

Advertisement

11. “मन में सींचो हर हर नाम अंदर कीर्तन होर गुण गाम,
ऐसी प्रीत करो मन मेरे आठ पहर प्रभ जानो नेहरे,
कहो गुरु जी का निर्मल बाग हर चरणी ता का मन लाग,
नानक नीच कहे विचार वारिआ ना जावा एक वार,
जो तुद भावे साई भली कार तू सदा सलामत निरंकार ।
गुरुपुरब दी लख लख वधाई!”

12. “मेरा जन्म नहीं हुआ है; भला मेरा जन्म या मृत्यु कैसे हो सकती है.”


13. “ੴ सतिगुर प्रसादि॥
नमसकारु गुरदेव को सति नामु जिसु मंत्र सुणाइआ।
भवजल विचों कढि कै मुकति पदारथि माहि समाइआ।
जनम मरण भउ कटिआ संसा रोगु वियोगु मिटाइआ।
संसा इहु संसारु है जनम मरन विचि दुखु सवाइआ।
जम दंडु सिरौं न उतरै साकति दुरजन जनमु गवाइआ।
चरन गहे गुरदेव दे सति सबदु दे मुकति कराइआ।
भाउ भगति गुरपुरबि करि नामु दानु इसनानु द्रिड़ाइआ।
जेहा बीउ तेहा फलु पाइआ ॥१॥
गुरु नानक देव जी प्रकाश पुरब की आप सब को बधाई!”

14. “धन-समृद्धि से युक्त बड़े बड़े राज्यों के राजा-महाराजों की तुलना भी उस चींटी से नहीं की जा सकती है जिसमे में ईश्वर का प्रेम भरा हो.”

15. “जो कर सूरज निक्ल्या;
तारे छुपे हनेर पलोआ;
मिट्टी धुन्ध जग चानन होआ;
कल तारण गुरु नानक आया!
गुरु नानक देव जी दे प्रकाश उत्सव दियां लख-लख वधाईयां!”

16. “उसकी चमक से सबकुछ प्रकाशमान है.”

17. “ੴ सतिगुर प्रसादि॥
नमसकारु गुरदेव को सति नामु जिसु मंत्र सुणाइआ।
भवजल विचों कढि कै मुकति पदारथि माहि समाइआ।
जनम मरण भउ कटिआ संसा रोगु वियोगु मिटाइआ।
संसा इहु संसारु है जनम मरन विचि दुखु सवाइआ।
जम दंडु सिरौं न उतरै साकति दुरजन जनमु गवाइआ।
चरन गहे गुरदेव दे सति सबदु दे मुकति कराइआ।
भाउ भगति गुरपुरबि करि नामु दानु इसनानु द्रिड़ाइआ।
जेहा बीउ तेहा फलु पाइआ॥१॥
गुरु नानक देव जी प्रकाश पुरब की बधाई!”

18. “प्रभु के लिए खुशियों के गीत गाओ, प्रभु के नाम की सेवा करो, और उसके सेवकों के सेवक बन जाओ.”

19. “नानक नीच कहे विचार;
वारिया ना जावे इक वार;
जो तुध पावे साई भली कार;
तू सदा सलामत निरंकार!
श्री गुरु नानक जी के गुरपुरब की मंगल कामनाएं!”

20. “गुरमुखि धिआवहि सि अम्रित पावहि सेई सूचे होही ॥
अहिनिसि नाम जपह रे प्राणी मैले हछे होही ॥३॥
जेही रुति काइआ सुख तेहा तेहो जेही देही ॥
नानक रुति सुहावी साई बिन नावै रुति केही ॥४॥१॥

जो गुरमुख ध्यान करते हैं, दिव्य अमृत पाते हैं वो पूरी तरह शुद्ध हो जाते हैं,
दिन रात प्रभु का नाम जपो तो तुम्हारी आत्मा भी शुद्ध हो जाती है,
जैसी यह ऋतु है वैसे ही हमारा शरीर अपने आप को ढाल लेता है,
नानक कह रहे हैं कि जिस ऋतु में प्रभु का नाम नहीं उस ऋतु का कोई महत्व नहीं है।
गुरु नानक देव जी के प्रकाश पुरब की शुभ कामनायें!”

21. “बंधुओं ! हम मौत को बुरा नहीं कहते , यदि हम जानते कि वास्तव में मरा कैसे जाता है. ”

22. “नानक नाम चड्दी कला;
तेरे भाने सरबत दा भला!
धन-धन साहिब श्री गुरु नानक देव जी के आगमन पूर्व की आपको और आप जी के परिवार को लख-लख बधाइयां!”

23. “सलोकु मरदाना १॥
कलि कलवाली कामु मदु मनूआ पीवणहारु ॥
क्रोध कटोरी मोहि भरी पीलावा अहंकारु ॥
मजलस कूड़े लब की पी पी होइ खुआरु ॥
करणी लाहणि सतु गुड़ु सचु सरा करि सारु ॥
गुण मंडे करि सीलु घिउ सरमु मासु आहारु ॥
गुरमुखि पाईऐ नानका खाधै जाहि बिकार ॥१॥
गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व की बधाई!”

24. “हम सभी को इस व्यस्त दुनिया में रह रहे हैं, और
बहुत सौभाग्य से हम सभी का मौका जाने के लिए मिलता है,
गुरु नानक जयंती के निकट,
तो दोस्तों हम यहां आपको बधाई देने के लिए जा रहे हैं,
मुबारक गुरु नानक जयंती।”

25. “नानक नाम जहाज है, चढ़े सो उत्तरे पार!
गुरु पिता, सिख पंथ की बाणी धन श्री गुरु नानक देव जी के गुरपूरब की आप सबको बहुत बहुत बधाई हो!”

26. “तुधनो सेवहि तुझ किआ देवहि मांगहि लेवहि रहहि नही ॥
तू दाता जीआ सभना का जीआ अंदरि जीउ तुही ॥२॥

हे प्रभु जो लोग तुम्हारी सेवा करते हैं वो तुम्हें क्या दे सकते हैं, वो तो खुद तुमसे माँगते हैं;
तुम सभी आत्माओं के महान दाता हो, सभी जीवित प्राणियों के भीतर जीवन हो।
गुरु नानक देव जी के आगमन पर्व की शुभ कामनायें!”

27. “मन में सींचो हर हर नाम;
अन्दर कीर्तन और गुण गान;
ऐसी प्रीत करो मन मेरे;
आठ पहर प्रब जानो नहरे;
कहो नानक जा का निर्मल भाग;
हर चरनी ता का मन लाग!
गुरु नानक देव जी के पर्व की आप सभी को शुभकामनाएं!”

28. “हम जानते हैं कि,
यह जीवन बहुत छोटा है, और
आप सभी खुशी से, पसंद करने के लिए जा रहा होगा और
इस सुंदर दिन के उत्सव का आनंद लें,
हाँ, दिन बहुत सुंदर है,
आप भाग्यशाली हैं और आप पर भोले बाबा Do कृपा हो सकता है, और
अपने सारे सपने को पूरा करना।”

29. “सरम खंड की बाणी रूपु ॥
तिथै घाड़ति घड़ीऐ बहुतु अनूपु ॥
ता कीआ गला कथीआ ना जाहि ॥
जे को कहै पिछै पछुताइ ॥
तिथै घड़ीऐ सुरति मति मनि बुधि ॥
तिथै घड़ीऐ सुरा सिधा की सुधि ॥३६॥

विनम्रता के दायरे में, शब्द सौंदर्य है;
अतुलनीय सौंदर्य के प्रपत्र वहाँ विचारों के हैं;
जिसको वर्णित नहीं किया जा सकता;
जो इसे वर्णित करना चाहे वो पछतायेगा;
मन की सहज चेतना, बुद्धि और समझ वहाँ आकार लेते हैं;
आध्यात्मिक योद्धाओं और सिद्ध, की आध्यात्मिक पूर्णता चेतना वहां आकार लेती है।
गुरु नानक देव जी के प्रकाश पुरब की शुभ कामनायें!”

30. “धन गुरु नानक तेरा ही आसरा!
धन गुरु नानक तू ही निरंकार!
धन गुरु नानक तेरी वड्डी कमाई!
सतगुरु गुरु नानक देव जी के आगमन जनम दिवस पर आपको बहुत बहुत शुभ कामनाएं!”

31. “जीवन बहुत छोटा है,
हम जानते हैं कि आप सभी आदमी के लिए यकीन है कि पसंद है और गुरु नानक जयंती के उत्सव का आनंद जा रहा होगा।”

32. “तन महि मैल नाही मन राता ॥
गुर बचनी सच सबदि पछाता ॥
तेरा ताण नाम की वडिआई ॥
नानक रहणा भगति सरणाई ॥४॥१०॥

जिसका मन प्रभु के अभ्यस्त है, उसके शरीर में कोई प्रदूषण नहीं है;
गुरु के शब्द के माध्यम से सच्चे शब्द का एहसास होता है;
सभी शक्तियां तुम्हारे नाम के माध्यम से तुम्हारी हैं;
नानक अपने भक्तों के अभयारण्य में पालन करता है।
गुरु नानक देव जी के प्रकाश पुरब की शुभ कामनायें!”

33. “एक बार फिर हम यहाँ हैं, हमारी भारतीय सबसे लोकप्रिय त्योहार मनाने के लिए,
इतना ही नहीं हमारे भारतीय,
उनके विभिन्न अन्य देशों के हैं,
कौन मनाता है,
इस खास दिन,
आप सभी का बहुत ही खास बधाई,
मुबारक गुरु नानक जयंती।”

34. “सतगुरु नानक परगटया मिट्टी धुन्ध जग चानन होया!
गुरु नानक पातशाह जी के 544 वें प्रकाश पर्व की सरबत नू लख-लख बधाइयाँ!”

35. “भारत त्योहार का देश है,
लोग त्योहार के विभिन्न प्रकार के जश्न मनाने के लिए प्यार करता है,
हम एक बार फिर जश्न मनाने का मौका मिल रहा है,
एक बहुत ही खास महोत्सव,
यही कारण है कि विशेष त्योहार है,
मुबारक गुरु नानक जयंती 2016।”

36. “नानक नीच कहे विचार, वारेया ना जावाँ एक वार;
जो तुध भावे साईं भली कार, तू सदा सलामत निरंकार!
गुरु नानक देव जी दे जन्म दिवस पर आपको और आपके परिवार को हार्दिक अभ्निनंदन!”

37. “दोस्तो यह गुरु नानक जयंती है
दिन जब हम जश्न मनाने के गुरु नानक जयंती,
इसलिए, हमारे सभी करीबी लोगों के एक बहुत खुश गुरु नानक जयंती 2016 चाहते हैं।”

38. “किसी ने पूछा तेरा घर बार कितना है;
किसी ने पूछा तेरा कारोबार कितना है;
किसी ने पूछा तेरा परिवार कितना है;
कोई विरला ही पूछता है कि तेरा गुरु के साथ प्यार कितना है!
गुरु नानक जी के प्रकाश उत्सव की आपको बधाई हो!”

39. “हम जितना ज्यादा बाहर जायें और दूसरों का भला करें, हमारा ह्रदय उतना ही शुद्ध होगा, और परमात्मा उसमे बसेंगे.”

40. “जो अग्नि हमें गर्मी देती है , हमें नष्ट भी कर सकती है ; यह अग्नि का दोष नहीं है.”

41. “इस दुनिया में सभी भेद-भाव किसी स्तर के हैं, ना कि प्रकार के, क्योंकि एकता ही सभी चीजों का रहस्य है.”

42. “ना खोजो ना बचो, जो आता है ले लो.”

43. “आज-कल लेखक अन्य लेखकों को प्रभावित करना चाहते हैं.”

44. “विश्व एक व्यायामशाला है, जहाँ हम खुद को मजबूत बनाने के लिए आते हैं.”

45. “सच्ची सफलता और आनंद का सबसे बड़ा रहस्य यह है: वह पुरुष या स्त्री जो बदले में कुछ नहीं मांगता, पूर्ण रूप से निस्स्वार्थ व्यक्ति, सबसे सफल है.”

46. “जो तुम सोचते हो वो हो जाओगे. यदि तुम खुद को कमजोर सोचते हो, तुम कमजोर हो जाओगे, अगर खुद को ताकतवर सोचते हो, तुम ताकतवर हो जाओगे.”

47. “कोई उसे तर्क द्वारा नहीं समझ सकता, भले वो युगों तक तर्क करता रहे.”

48. “जब कोई विचार अनन्य रूप से मस्तिष्क पर अधिकार कर लेता है तब वह वास्तविक भौतिक या मानसिक अवस्था में परिवर्तित हो जाता है.”

49. “बस वही जीते हैं ,जो दूसरों के लिए जीते हैं.”

50. “तेरी हजारों आँखें हैं और फिर भी एक आंख भी नहीं ; तेरे हज़ारों रूप हैं फिर भी एक रूप भी नहीं.”

50 Happy Guru Nanak Jayanti 2016 Quotes Wishes Status in Hindi
50 Happy Guru Nanak Jayanti 2016 Quotes Wishes Status in Hindi

Tags : Happy Guru Nanak Jayanti 2016, Guru Nanak Jayanti Quotes in Hindi, Guru Nanak Jayanti Status in Hindi, Guru Nanak Jayanti Wishes in Hindi, Guru Nanak Jayanti Images, Guru Nanak Jayanti Pictures, Guru Nanak Jayanti SMS

Related Post :